कोरोना से लड़ सकते हे अथवा बहुत लोगो को संक्रमित होने से बचा भी सकते हे : शैली छाबड़ा*



भोपाल से संतोष योगी की खबर
सेवा करने के दोरान मे कोरोना संक्रमित हो गया था जिसके कारण में सेवा करने नहीं जा पा रहा था। मगर मैं जैसे ही ठीक हुआ, मैं पुनः सेवा करने पहुंचा। आज अयोध्या नगर में क्रेशर बस्ती व झील नगर, शनि मन्दिर वहां गया वहां मास्क वा भोजन के पेकेट बाटे ओर वहां मिले बच्चौ को ओर कुछ बुजूर्ग भी थे उनको समझाया भी की समय बहुत खराब चल रहा हे बिना मास्क के मत रहा करो ओर उन सब ने मेरी बात मानी भी ओर सभी बच्चे मास्क लगाये ओर लाइन से आकर भोजन का पेकेट लेने लगे मेरे मन को बहुत अच्छा लगा ये सब देख के हम समझा कर ओर मास्क देकर भी कोरोना से लड़ सकते हे अथवा बहुत लोगो को संक्रमित होने से बचा भी सकते हे । ओर फिर लोगो की सेवा करने के बाद रात मे बेजुबानो की जो रोड मे डॉग घुमते हे उनको खाना खिला के जो सुकुन मिलता हैं यह कहना है राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश उपाध्यक्ष शैली छाबड़ा का श्री छाबड़ा ने बताया कि इस प्रकार कार्य करने से मन को बड़ा सुकून मिलता है मैं प्रतिदिन बेजुबान जानवरों को भोजन एवं इस कोरोना काल में पीड़ित परिवारों को सुविधा उपलब्ध करा रहा हूं इन सब को करने के बाद में मेरे मन को बड़ा सुकून मिलता है और मैं सभी युवाओं से निवेदन करता हूं कि ऐसे ही एक दूसरे की मदद करें ताकि हम इस बीमारी से लड़ सके क्योंकि आज हम सब को एक दूसरे की सहयोग की अपेक्षा है शासन अपने स्तर पर कार्य कर रहा है लेकिन हमें भी अपनी जिम्मेदारियां अब समझना होगा ऐसी महामारी इस देश में पहली बार नहीं आई है यह महामारी पहले भी आइए लेकिन हमारे बड़े बुजुर्गों ने अपनी सूझबूझ से ऐसी बीमारियों से अपनी जिंदगी बचाई है आज हमें उनके बताए हुए मार्ग पर चलकर इस बीमारी में एक दूसरे का साथ देकर बचा जा सकता है शैली ने बताया कि मुझे भी करोना हो गया था लेकिन अब स्वस्थ होते ही मैं अपने कार्य में जुट गया हूं

*शैली छाबड़ा*
*राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश उपाध्यक्ष*

Leave a Reply