ऑक्सीजन वाले 95 सभी बेड फुल, पुलिस फोर्स लगने के बाद लौट रहे मरीज

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

सीहोर। जिले में लगातार बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या के चलते स्वास्थ्य सेवाएं चरमराने लगी हैं और संसाधन भी कम पड़ने लगे हैं। बुधवार को जिला अस्पताल के सभी बेड फुल हो गए। इधर गुरुवार सुबह अस्पताल परिसर में एक दस की गार्ड सुरक्षा की दृष्टि से लगाई गई है। वहीं जिला अस्पताल में 24 घंटे की ऑक्सीजन की उपलब्धता है। जिसको लेकर भोपाल से 140 ऑक्सीजन सिलिंडर गैस रिफिल कराने बुधवार को भेजे हैं, जो अभी तक नहीं आए हैं। स्वास्थ्य व प्रशासनिक अमला इंतजाम में लगा हुआ है। हालत यह है कि जिला अस्पताल परिसर में अब किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है, जिससे उन्हें वापस लौटना पड़ रहा हैं वहीं निजी क्लीनिकों में मुख्यमंत्री के गृह जिले में मरीजों से एक दिन के 20-20 हजार रुपये लिए जा रहे हैं। जिला अस्पताल सीहोर में सारे बेड फुल हो चुके हैं और अस्पताल प्रबंधन को बुधवार रात को दिवारों पर नोटिस चस्पा करना पड़ा। जिस पर लिखा है कि जिला चिकित्सालय सीहोर के सभी बिस्तर फुल हैं। कोविड बेड फुल हो जाने के कारण मेडिकल वार्ड में भी मरीजों को रखा गया है, जहां पर बेड अब फुल हो चुके हैं। सिविल सर्जन डॉ आनंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला अस्पताल में कुल 95 बिस्तर हैं जो इस समय फुल हो चुके हैं। लगातार कोरोना संक्रमित मरीज आ रहे हैं और विवाद की स्थिति बन रही है। इसलिए नोटिस चस्पा करना पड़ा और पुलिस को भी बुलाना पड़ी।

अस्पताल परिसर में प्रवेश वर्जित

जिला अस्पताल में सभी बेड फुल होने के कारण गेट बंद कर दोनो गेट पर पुलिस तैनात कर दी गई है। इससे अब अन्य बीमारी के मरीज या सीटी स्कैन वाले भी जिला अस्पताल में प्रवेश नहीं कर पा रहे हैं। वहीं जिला अस्पताल के बेड फुल होने से गुरुवार सुबह से ही मरीज तो आते रहे, लेकिन कई मरीजों को वापस बिना भर्ती किए घर लौटाया गया। अस्पताल प्रबंधन इन हालातो में होने वाली किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए सुबह से ही पुलिस की मदद ली है। अस्पताल परिसर में एक दस की गार्ड सुबह से लगाई गई है।

बिना ऑक्सीजन के 5 व ऑक्सीजन सपार्ट के 20 हजार प्रतिदिन चार्ज

कलेक्टर अजय गुप्ता ने दो सप्ताह पहले कोविड का इलाज कर रहे निजी क्लिीनकों की बैठक लेकर निर्देश दिए थे कि अपने अस्पताल व सेंटर पर अलग-अलग पैकेज की रेट लिस्ट डिस्प्ले लगाए, जिससे मरीज व उनके परिजनों को असुविधा न हो। इसके बाद जो डिस्प्ले लगाए गए हैं, उनमें रेट लिस्ट कुछ और है और ले कुछ और रहे हैं। हालात यह है कि मुख्यमंत्री के गृह जिले में ऑक्सीजन सपोर्ट बेड का एक दिन का चार्ज 20 हजार रुपये लिया जा रहा है। वहीं एक कोविड सेंटर में बिना ऑक्सीजन सपार्ट का एक दिन का चार्ज 5 हजार रुपये प्रतिदिन रखा गया है।

इनका कहना है ।

डॉ. आनंद शर्मा शिविल सर्जन जिला चिकित्सालय सीहोर

तीन अलग.अलग शिफ्टों में 140 ऑक्सीजन सिलिंडर रिफिल के लिए भोपाल भेजे हैंए अभी तक ऑक्सीजन नहीं मिल पाई है। स्वास्थ्य व प्रशासनिक अमला अन्य जगह भी प्रयास में लगा हुआ है। वहीं जिला अस्पताल व डीसीएससीए आईसीयू में सभी 95 ऑक्सीजन सपोर्ट बेड फुल हो चुके हैं। भर्ती को लेकर विवाद की स्थिति न बने इसलिए 10 पुलिस जवानों को तैनात किया गया है।

Leave a Reply