कोरोना काल के मानसिक तनाव के दौरान कुछ खुशी देने वाली खगोलीय गतिविधि घटित होंगी- सारिका घारू

DG NEWS SEHORE
सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट
सीहोर । मंगलवार (27अप्रैल2021) को पूर्णिमा का चंद्रमा दिखेगा विशाल। शाम लगभग 7 बजकर 9 मिनिट पर पूर्व दिशा में जब चंद्रमा उदित होगा तो उसका आकार सामान्य पूर्णिमा के चंद्रमा की तुलना में बड़ा होगा और चमक भी अधिक होगी। नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि यह खगोलिय घटना सुपरमून कहलाती है। यह इस साल पहला सुपरमून होगा सारिका घारू ने बताया कि 99.7 प्रतिशत चमक के साथ चमकने वाले इस मून को यूएसए में बसंत ऋतु के आरंभ में खिलने वाले गुलाबी फूलों के आधार पर पिंक मून का नाम दिया गया गया है। चंद्रमा की पृथ्वी से दूरी लगभग 358113 कि.मी. होगी। यह रात भर आकाश में रहकर सुबह सबेरे लगभग 6 :40 पर अस्त होगा। सारिका ने मॉडल की मदद से बताया कि चंद्रमा पृथ्वी की परिक्रमा अंडाकार पथ पर करते हुए 361885 कि.मी. से कम दूरी पर रहता है तो उस समय पूर्णिमा का चांद सुपरमून कहलाता है। यह माइक्रोमून की तुलना में 14 प्रतिशत बड़ा और 30 प्रतिशत ज़्यादा चमकदार दिखता है। सारिका ने बताया कि सुपरमून को यादगार बनाने क्षितिज से उदित हो रहे चन्द्रमा की फोटोग्राफी की जा सकती है। मून इलुजन की घटना के कारण चंद्रमा विशाल गोले के रूप में दिखेगा। इस साल दो सुपरमून दिखने जा रहे हैं अगला सुपरमून 26 मई को होगा। तो हो जाइए तैयार अपने घर आंगन से इस अदभुत खगोलीय घटना के दीदार के लिए। जबलपुर में चन्द्रोदय शाम 18:58, छिंदवाड़ा में शाम 19:01,होशंगाबाद में शाम 19:07, भोपाल में शाम 19:09, इंदौर में शाम 19:15 सीहोर में चंद्रोदय शाम 19: 09 पर होगा।

Leave a Reply