स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कोरोना संक्रमण को लेकर कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली बैठक के उपरांत आवश्यक दिशा निर्देश दिए

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

सीहोर । सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कोरोना संक्रमण को लेकर कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कोरोना वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता बताई। साथ ही आक्सीजन व रेमडेसिविर को लेकर कहा कि हमने पूरी तैयारी कर रखी थी, लेकिन अधिक तेजी से बढ़े केस के कारण संसाधन कम पड़े है। जिसको लेकर मुख्यमंत्री सहित उनकी पूरी टीम मंत्रीमंडल सहित प्रशासनिक अमला तेजी से आक्सीजन, रेमडेसिविर व अन्य संसाधन जुटाने के साथ ही जागरूकता अभियान चलाकर कोरोना पर कंट्रोल कर रहा है। यही कारण है कि संक्रमण घटने के साथ ही डिस्चार्ज होने वालों की संख्या बढ़ी है। किल कोरोना अभियान से गांव-गांव तक पहुंचकर युद्ध स्तर पर संक्रमण के खिलाफ लड़ाई लड़ी जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि वैक्सीन की पूरी व्यवस्था की जा रही है। अभी पहले जो कोवैक्सीन लगी है, वहीं फ्रंटलाइन, 60 से ऊपर व उसके बाद 45 से ऊपर वालों को पूरे प्रदेश में उपलब्ध है। आने वाली 1 मई से 18 से ऊपर की उम्र वालों की भी वैक्सीन लगेगी। मंत्री चौधरी ने कहा कि केस तेजी से बढ़े, जिसकी किसी ने कभी कल्पना नहीं की थी। सिर्फ मप्र में नहीं देश में दुनिया में भी केस बढ़े। हमने व्यवस्थाएं काफी रखी थीं। बेड भी बढ़ाए थे, आक्सीन भी तैयार रखी थी और आईसीयू भी बढ़ाए थे, लेकिन केस जिस तेजी से बढ़े उससे डिमांड ज्यादा बढ़ी। चुनौती जरुर है, लेकिन हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूरी टीम उनके मंत्री मंडल, प्रशासनिक अधिकारी मिलकर इस चुनौती को स्वीकार कर हम लोग मिलकर आक्सीजन उपलब्ध करा रहे हैं। अब तो आप देख रहे है एयरफोर्स से भी आक्सीजन बुलाए जा रहे हैं। 37 जिलों में पहले एयर सेपरेशन यूनिट व अभी आठ जिलों में भी आर्डर किए हैं। हमारे सीहोर में भी आक्सीजन प्लांट का काम चल रहा है। आक्सीजन बेड भी बढ़ाए गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भी सुविधाएं बढ़ाई जा रही है। युद्ध स्तर पर सरकार लगी हुई है कि इस संक्रमण को रोक सके। पूरे प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है, जिसके सकारात्मक परिणाम आ रहे हैं। संक्रमण कम हो रहा है और स्वस्थ होकर भी लोग घर जा रहे हैं। मेडिसिन भी होम आइसोलेशन में दी जा रही है। किल कोरोना अभियान 24 तारीख से घर-घर जाकर आईडेंटीफाइ कर रहे हैं। घर में जगह नहीं तो पंचायत में क्वारंटाइन में रख रहे हैं।

सबको नही है रेमडेसीवीर कि जरूरत

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि रेमडेसिविर की सबकों आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन सरकार व मुख्यमंत्री लगातार उत्पादन कंपनियों से संपर्क कर रहे हैं। इंजेक्शन हवाई जहाज से हेलीकाप्टर से बुलाकर सबको वितरित किए जा रहे हैं। अन्य दवाएं भी हैं। रेयर परिस्थितियों में रेमडेसिविर दिया जाता है। इसको लेकर ज्यादा पैनिक होने की जरूरत नहीं हैं। अन्य सुविधाएं भी जुटाई जा रही हैं। इस मौके पर विधायक सुदेश राय, कलेक्टर अजय गुप्ता, एसपी एसएस चौहान, एडिशनल एसपी समीर यादव, जिला पंचायत सीईओ हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर गुंचा सनोवर, सीएमएचओ डॉ सुधीर डेहरिया, सिविल सर्जन डॉ आनंद शर्मा सहित जनप्रतिनिधि व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply