रामपुरा डैम से पानी छोड़ने का मामला गरमाया, तहसीलदार ने कहा- दादागिरी नहीं चलेगी

DG NEWD SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट 8871288482

सीहोर । आष्टा नगर के नागरिकों की प्यास बुझाने के लिए व कमांड एरिया के किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए बने रामपुरा डैम से 15 फरवरी को नगर पालिका द्वारा सिंचाई विभाग में जमा कराई गई। पांच लाख रुपये की राशि के बाद रामपुरा डैम से आष्टा नगर के लिए सुरक्षित रखा गया पानी विभाग ने छोड़ा था। उक्त पानी को छोड़े जाने के बाद लगभग 25 दिनों बाद भी डैम से छोड़ा पानी आष्टा धीमी गति से पहुंचा।

चिंतित नपा ने जब इसका कारण खोजा तब ज्ञात हुआ कि रास्ते में पार्वती नदी पर बने कई स्टाप डैमो पर उस क्षेत्र के किसानों ने शटर लगा कर पानी रोक दिया है। जिससे आष्टा आ रहा पानी उन स्टाप डैमो में रुक गया, यह खबर मिलने के बाद बुधवार को तहसीलदार लाखनसिंह चौधरी, सिद्धिकगंज टीआइ कमलसिंह ठाकुर, नगर पालिका सीएमओ नंदकिशोर पारसनिया, इंजीनियर अनिल कुमार धुर्वे, जल शाखा के रमेश यादव सहित राजस्व, पुलिस व नगरपालिका का बड़ा अमला ग्राम जसमत, ईलाही व सिद्धिकगंज पहुंचा। जहां पर पार्वती नदी पर बने स्टाप डैम में किसानों ने स्टाप डैम में शटर लगा कर डैम से आष्टा आ रहे पानी को रोक लिया था। उस पानी को आष्टा भेजने के लिए नगर पालिका व प्रशासन के अमले ने पुलिस के साये में जेसीबी से स्टाप डैमो में लगाई गई। सभी शटर खोल दी तथा डैम से छोड़ा गया, पानी आष्टा की ओर रवाना किया। मौके पर एक ग्रामीण ने प्रशासन के पहुंचे हमले के कर्मचारी के साथ अभद्र व्यवहार करना चाहिए जिस पर तहसीलदार चौधरी ने पहले तो समझाया जब वह ग्रामीण नहीं माना तो फटकार भी लगाई। प्रशासन द्वारा स्टाप डैमो के शटर खुलवाने के विरोध में ग्रामीणों ने सिद्धिकगंज को बंद करवाया।

पानी हमारे लिए भी जरूरी

सिद्धिकगंज व अन्य स्थानों पर किसानों ने इसका कड़ा विरोध भी किया। उनका कहना था कि शटर लगी रहने दी जाए, यह पानी हमारे लिए जरूरी है जबकि अधिकारियों ने कहा कि जनता की पेयजल के लिए पानी उपलब्ध कराना शासन प्रशासन का दायित्व है और उसके बाद जो पानी बचेगा, वह आप लोगों को दिया जाएगा तथा शटर के ऊपर से जो पानी बह कर जा रहा है, वह आष्टा ही जा रहा है। शटर के अंदर जो पानी है वह क्षेत्र के किसानों का पानी है जो मवेशियों को पिलाने वह अन्य कार्य में काम आता है। प्रशासन ने सख्ती से जेसीबी से स्टाप डैम में लगाई सभी शटर जेसीबी से खोलकर रोका पानी आष्टा की ओर रवाना किया। जब प्रशासन उक्त कार्रवाई कर रहा था तब सिद्धिकगंज में काफी किसान, ग्रामीण जमा हो गए थे।

About सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS

View all posts by सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS →

Leave a Reply