सावधान प्राइवेट डॉक्टर्स ने नियम विरुद्ध किया इलाज तो जाना पड़ेगा जेल

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

सीहोर, इछावर । कोरोना महामारी के दौरान प्राइवेट डाक्टर मरीजो के शोषण से बाज आएं। इलाज को लेकर तीर मे तुक्का न लगाए। प्राइवेट डॉक्टर सहयोगात्मक रुख रखें, आपदा को अवसर बनाकर मरीज व उसके परिजनों का शोषण न करें अन्यथा परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। उक्त बात इछावर एसडीएम विष्णु प्रसाद यादव ने कही, वह सिविल अस्पताल इछावर के सभा कक्ष में एक बैठक के दौरान ब्लाक के प्राइवेट चिकित्सकों की मिटिंग को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह संकट का समय है और यदि जिस किसी चिकित्सक की लापरवाही प्रकाश में आती है तो तुरंत एफआईआर दर्ज कर क्लिनिक सील करते हुए दोषी चिकित्सक को जेल की राह दिखा दी जाएगी। इस अवसर पर बीएमओ डॉ. बीबी शर्मा ने कहा कि चाहे किसी भी पैथी के डॉक्टर हों, मरीज का तीन दिन से ज्यादा इलाज न करें, मरीजो को अस्पताल पहुचाये जांच कराने की सलाह दें साथ ही नागरिकों को कोरोना टीकाकरण की सलाह दें। कोरोना प्रोटोकॉल के मद्देनजर ही पॉजिटिव व्यक्तियों का इलाज करें। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को यदि अस्पताल से इलाज में इंजेक्शन लिखा गया है तो उसे इंजेक्शन लगाने से इंकार नहीं करें। प्रोटोकॉल के तहत इलाज करें। बैठक में इछावर नगर सहित ब्लाक के अधिकांश निजि चिकित्सक मौजूद थे जिन्होंने पूरी जिम्मेदारी,सतर्कता साथ नियमानुसार इलाज करने का आश्वासन अधिकारियों को दिया।

Leave a Reply