जन-जन तक पहुँचे शहीद क्रांतिकारी टंट्या मामा की देश भक्ति का भाव – मंत्री डॉ. मिश्रा

“देश के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले अमर शहीद क्रांतिकारी टंट्या मामा के अमूल्य बलिदान एवं देश भक्ति का भाव जन-जन तक पहुँचाने के लिए कलश यात्रा एवं टंट्या मामा स्मृति कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। हमारे प्रयास होने चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस आयोजन में अपनी सहभागिता निभाएं और जननायक टंट्या मामा के विचारों को अपने अंदर समाहित करें।” गृह मंत्री एवं इंदौर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने आज इन दिशा-निर्देशों के साथ इंदौर के पातालपानी में 4 दिसंबर 2021 को होने वाले टंट्या मामा स्मृति कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में सांसद श्री शंकर लालवानी, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, आईजी श्री हरिनारायण चारी मिश्रा, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, डीआईजी श्री मनीष कपूरिया सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

प्रभारी मंत्री डॉ. मिश्रा ने निर्देश दिए कि बलिदान दिवस के पर्व पर आयोजित इस भव्य कार्यक्रम में जन-भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए आगामी सप्ताह में नियमित रूप से विभिन्न गतिविधियाँ संचालित की जाएं। उन्होंने संभागायुक्त को निर्देश दिए कि कार्यक्रम में शामिल हो रहे लोगों के खानपान, विश्राम एवं अन्य सभी मूलभूत व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने कहा कि रथयात्रा के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था का पूर्ण ध्यान रखा जाए एवं कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त दल नियुक्त किया जाये। कार्यक्रम स्थल पर बस एवं अन्य माध्यम से आ रहे लोगों के लिए पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। मंत्री डॉ. मिश्रा ने अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए टंट्या मामा स्मृति कार्यक्रम को पूरी गरिमा के साथ संपन्न कराने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

प्रमुख चौराहों पर होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम-सांसद श्री लालवानी

टंट्या मामा बलिदान दिवस पर स्मृति कार्यक्रम की तैयारियों से मंत्री डॉ. मिश्रा को अवगत कराते हुए सांसद श्री लालवानी ने बताया कि एक दिसंबर से इंदौर शहर के प्रमुख चौराहों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन प्रारंभ कर दिया जाएगा। इंदौर पहुँच रही कलश यात्रा के मार्ग पर 3 दिसंबर को इंदौर स्वागत के लिए तैयार रहेगा। शहर के लोग यात्रा में शामिल होकर टंट्या मामा को श्रद्धा-सुमन अर्पित करेंगे। उन्होंने बताया कि जिले में निवास कर रहे वनवासी जन एवं छात्र-छात्राओं तथा युवाओं को कार्यक्रम स्थल तक ले जाने के लिए सभी व्यवस्था की जा चुकी हैं।

स्मृति कार्यक्रम में शामिल होंगे टंट्या मामा के वंशज – संभागायुक्त

संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने बताया कि कलश यात्रा एवं स्मृति कार्यक्रम में जननायक टंट्या मामा के वंशज भी शामिल होंगे। यात्रा के दौरान लोगों के रूकने एवं भोजन की व्यवस्था के साथ-साथ डॉक्टर की टीम भी साथ में रहेगी। उन्होंने बताया कि जननायक टंट्या मामा की जन्म स्थली बड़ोद अहीर से 27 नवंबर को कलश यात्रा निकाली जाएगी और सैलाना से 29 नवंबर को यात्रा शुरू होगी। दोनों यात्राएँ इंदौर और उज्जैन संभाग के विभिन्न जिलों से होते हुए धार में 3 दिसंबर को आकर मिलेगी। इसके बाद दोनों यात्राएँ 4 दिसंबर को पातालपानी आएगी। संभागायुक्त ने बताया कि तैयारियों को लेकर जिला कलेक्टरों से चर्चा और विभिन्न संगठनों से समन्वय कर यात्रा की आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर ली गई हैं।

पातालपानी में लगेगी जननायक टंट्या मामा की कांस्य प्रतिमा– कलेक्टर श्री सिंह

कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कलश यात्रा हेतु इंदौर में बनाए जा रहे दोनों रथ रतलाम एवं खंडवा के लिए जल्द ही रवाना कर दिए जाएंगे। कार्यक्रम स्थल की 2 किलोमीटर की परिधि में पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था कर ली गई है। स्थानीय लोगों को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था भी कर दी गई है। कलेक्टर ने बताया कि पातालपानी में जननायक टंट्या मामा की कांस्य प्रतिमा स्थापित की जाएगी। रथयात्रा 3 दिसंबर को धार रोड से राजवाड़ा पहुँचेगी। इसके बाद रथयात्रा स्टेडियम पहुँचेगी। स्टेडियम में सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाएंगे।

Leave a Reply