जल जीवन मिशन से प्रदेश की ग्रामीण आबादी को मिलेगा घर में नल से जल

ग्रामीण आबादी के साथ स्कूल और आंगनवाड़ी प्राथमिकता में : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि ग्रामीण आबादी को पेयजल की सहज उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जल जीवन मिशन की सौगात पूरे राष्ट्र को दी है। मिशन के माध्यम से गाँव-गाँव नलजल योजनाओं के माध्यम से हर घर में नल से शुद्ध जल देना सुनिश्चित किया जा रहा है। मध्यप्रदेश में मिशन में तेजी से कार्य हो रहा है। पिछले 16 माह में कोरोना काल के बावजूद भी मिशन के कार्यों की गति को बनाए रखा गया, जिसके परिणामस्वरूप अब तक 3401 ग्राम, 33 हजार 996 आंगनवाड़ी केन्द्रों और 56 हजार 369 स्कूल में नल से जल पहुँचाया जा चुका है। ग्रामीण आबादी में 41 लाख 79 हजार 60 घरों में नल से जल की व्यवस्था की जा चुकी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारा प्रयास है कि आगामी 2 वर्ष में प्रदेश के सभी ग्रामों में घर-घर नल से जल पहुँचना शुरू हो जाए। इसके लिए सभी ग्रामों में जल स्रोत भी तलाशे जा रहे है। जिन ग्रामों में जल स्रोत नहीं है, वहाँ नवीन जल स्रोत विकसित कर नलजल योजना शुरू की जाएगी। यह कार्य लगातार जारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ग्रामीण आबादी विशेषकर महिलाओं को पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए 15 अगस्त 2019 को जल मिशन की घोषणा की। आज यह मिशन ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली महिलाओं के लिए वरदान साबित हो रहा है। अब महिलाओं को घर पर ही नल के माध्यम से पेयजल मिलने लगा है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के प्राथमिकता वाले इस मिशन के लिए केन्द्र सरकार पर्याप्त मात्रा में आवंटन भी उपलब्ध करवा रही है। प्रदेश में जून 2020 से मिशन के माध्यम से गाँवों के हर घर में नल कनेक्शन से जल उपलब्ध करवाने का सिलसिला प्रारम्भ हुआ। आज 41 लाख 56 हजार से अधिक ग्रामीण परिवारों को नल कनेक्शन से निरन्तर जल प्रदाय हो रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जल जीवन मिशन में मौजूदा पेयजल स्रोतों का उपयोग कर और जहाँ पेयजल स्रोत नहीं हैं वहाँ नये स्रोत निर्मित कर ग्रामीण आबादी को नल से जल देकर उनके जीवन में बदलाव लाया जा रहा है। मिशन के क्रियान्वयन से आये बदलाव को प्रदेश के 3401 गाँवों में देखा जा सकता है, जहाँ नल से जल उपलब्ध करवाया जा रहा है। शीघ्र ही प्रदेश के सभी गाँव में मिशन के जरिये नल से घर-घर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि मिशन में ग्रामीण आबादी के घरों सहित स्कूल एवं आँगनबाड़ियों में भी पेयजल के लिए नल कनेक्शन दिए जा रहे हैं। लक्ष्य,प्रत्येक ग्रामीण परिवार, आंगनवाड़ी और स्कूल में गुणवत्तापूर्ण और पर्याप्त जल की आपूर्ति सुनिश्चित किया जाना है। अब तक लगभग 34 हजार आँगनबाड़ी और 56 हजार से अधिक स्कूल में नल से पेयजल की व्यवस्था की जा चुकी है। शेष रहे ग्रामीण परिवारों सहित आंगनवाड़ियों और स्कूलों में भी नल से जलापूर्ति के कार्य लगातार जारी हैं। मिशन अंतर्गत योजना निर्माण में जन-भागीदारी भी सुनिश्चित की गई है, जिससे ग्रामीणों में नलजल योजना में अपनत्व बना रहे।

#HarGharJal
#SuraajAbhiyan

Leave a Reply