दो दिवसीय वैक्सीनेशन महाअभियान की तैयारियों पर नज़र रखेंगे जिलों के प्रभारी मंत्री
मंत्रि-परिषद की बैठक स्थगित कर मंत्रियों को सौंपे गए दायित्व


—-
मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है कि सितम्बर माह तक प्रदेश के सभी पात्र नागरिकों को कोविड से बचाव के लिए प्रथम डोज लग जाए। एक विशेष रणनीति के तहत यह लक्ष्य तय किया गया है। वैक्सीनेशन महाअभियान का द्वितीय चरण अगस्त माह में ही सम्पन्न करने के पीछे भी यही उद्देश्य है कि प्रदेश के लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित हो।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 24 अगस्त को होने वाली मंत्रि-परिषद की बैठक स्थगित कर समस्त मंत्रीगण को अपने प्रभार के जिलों में 25 और 26 अगस्त के वैक्सीनेशन महाअभियान की तैयारियाँ सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में टीकाकरण महाअभियान में 25 अगस्त को कोरोना वैक्सीन का पहला एवं दूसरा डोज तथा 26 अगस्त को दूसरा डोज निर्धारित केन्द्रों पर लगाया जाएगा। इस समय मध्यप्रदेश वैक्सीनेशन में देश में दूसरे स्थान पर है। प्रदेश में अभी तक 4 करोड़ से अधिक लोग वैक्सीन की प्रथम और द्वितीय डोज़ लगवा चुके हैं। प्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए पात्र आबादी 5 करोड़ 48 लाख 90 हजार है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी जिलों के सामाजिक संगठनों, कोरोना वॉलेंटिंयर्स, जन-प्रतिनिधियों और आमजन से अपील की है कि वे टीकाकरण महाअभियान में अपना पूरा सहयोग प्रदान करें।

राजनैतिक दल भी जनता के हित से जुड़े इस अभियान में अपना रचनात्मक योगदान अवश्य प्रदान करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शासकीय विभागों और विभिन्न पंथों-धर्मों के प्रमुखों से भी वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया है।

Leave a Reply