कोरोना की तीसरी लहर के लिए युवा कम्युनिकेटर आशी चौहान लोगो को कर रही जागरूक

संवाददाता सुरेश मालवीय

DG NEWS SEHORE

भोपाल । कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप हम सभी देखा और सहा। लेकिन अब देश के कुछ हिस्सों में कोरोना की तीसरी लहर की आहट सुनाई देने लगी है। इसलिए हमें कोरोना की दूसरी लहर के लिए अभी से ही मानसिक और शरीरिक तौर पर तैयार होना होगा। यह समझाइश शहर की युवा कम्युनिकेटर आशी चौहान ने राजधानी के आसपास के गांवों में जाकर लोगो को जागरूक कर रही है। युवा कम्युनिकेटर आशी चौहान का कहना है कि, कोरोना संक्रमण को रोकने की जिम्मेदारी सरकार के साथ साथ आम लोगों की भी है। सरकार अपने स्तर पर कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी तो कर ही रही है। लेकिंन हमे भी इसके लिए अभी से तैयार होना होगा। आशी ने कहा कि, वैज्ञानिकों का कहना है कोरोना की तीसरी वेव का बच्चो पर ज्यादा असर पड़ेगा। ऐसे में हमे अभी से ही बच्चों को कोरोना का सामना करने के लिए अभी से तैयार करना होगा। बच्चों को अभी से मास्क लगाने और लोगों से जरूरी दूरी बनाने की समझाइश बहुत जरूरी है।

स्कूल खुलने के बढ़ी जिम्मेदारी: राज्य सरकार ने करीब डेढ़ साल बाद स्कूल खोलने की मंजूरी दी है ऐसे में स्कूल प्रबंधन के साथ साथ बच्चो के पेरेंट्स की भी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। स्कूल जाने से बच्चे केवल पढ़ाई ही नही करते हैं बल्कि उनकी व्यक्तित्व विकसित होता है। जोकि घर पर ऑनलाइन पढ़ाई से नही हो सकता है। बच्चा जब स्कूल जाता है तो अपने दोस्त बनाता है, जिससे उन्हें अच्छे बुरे का अनुभव होता है, उनके नेचरके बदलाब आता है। इसलिए बच्चो का स्कूल जाना बहुत जरूरी है। आशी ने कहा कि, स्कूल फिर से बंद न हो इसलिए हमें कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा।
एक दर्जन गांव में बच्चों से किया सम्पर्क: आशी का कहना है कोरोना से जंग जीतने के लिए हम सभी को इसके खिलाफ खड़ा होना होगा। इसलिए ngo, स्वयंसेवी संस्थाएं, कॉलोनी विकास समिति आदि को आगे आना चाहिए। आशी में कहा कि उन्होंने अब तक राजधानी भोपाल के आसपास के एक दर्जन गांवों में लोगो से सम्पर्क कर कोरोना की तीसरी लहर के बारे में अवगत कराया। आशी ने आदमपुर, भानपुर, सूखी सेवनिया, ईंटखेड़ी, रातीबड़, नीलबड़ आदि गांव में लोगो को तीसरी लहर के लिए जागरूक कर चुकी है। आशी का कहना है कि, उनका अभियान अभी लगातार चलेगा। इस अभियान में आशी के साथ लोग भी जुड़ रहे हैं।

Leave a Reply